Whole Sale Price Index Inflation Hits 10-month Low Drops To 2 Point 76 Percent In January 2019 – महंगाई के मोर्चे से अच्छी खबर, जनवरी में दर्ज हुई 10 महीने की सबसे बड़ी गिरावट

0
34


ख़बर सुनें

महंगाई दर में एक बार फिर गिरावट दर्ज हुई है। खुदरा महंगाई की दर पिछले 19 महीनों के निचले स्तर पर पहुंच गई है। जनवरी महीने में भी थोक महंगाई (Whole Sale Price Index) के मोर्चे पर राहत की खबर है। दिसंबर के 3.8 फीसद के मुकाबले जनवरी में थोक महंगाई दर कम होकर 2.76 फीसद हो गई है।

उल्लेखनीय है कि जनवरी में खुदरा महंगाई दर घटकर 2.05 फीसद हो चुकी है, जो जून 2017 के बाद सबसे कम है। महंगाई में आई गिरावट की वजह खाने-पीने के सामान की कीमतों में आई कमी और ईंधन के दाम में मामूली बढ़ोतरी का होना माना जा रहा है।

भारतीय रिजर्व बैंक की अगली समीक्षा बैठक अप्रैल में होनी है और माना जा रहा है कि इसमें एक बार फिर से ब्याज दरों में कटौती का तोहफा मिल सकता है। महंगाई के नियंत्रण में होने की वजह से रिजर्व बैंक ने अप्रत्याशित रूप से रेपो रेट में 25 आधार अंकों की कटौती की घोषणा करते हुए इसे 6.50 फीसदी से घटाकर 6.25 फीसद कर दिया है।

महंगाई दर में एक बार फिर गिरावट दर्ज हुई है। खुदरा महंगाई की दर पिछले 19 महीनों के निचले स्तर पर पहुंच गई है। जनवरी महीने में भी थोक महंगाई (Whole Sale Price Index) के मोर्चे पर राहत की खबर है। दिसंबर के 3.8 फीसद के मुकाबले जनवरी में थोक महंगाई दर कम होकर 2.76 फीसद हो गई है।

उल्लेखनीय है कि जनवरी में खुदरा महंगाई दर घटकर 2.05 फीसद हो चुकी है, जो जून 2017 के बाद सबसे कम है। महंगाई में आई गिरावट की वजह खाने-पीने के सामान की कीमतों में आई कमी और ईंधन के दाम में मामूली बढ़ोतरी का होना माना जा रहा है।

भारतीय रिजर्व बैंक की अगली समीक्षा बैठक अप्रैल में होनी है और माना जा रहा है कि इसमें एक बार फिर से ब्याज दरों में कटौती का तोहफा मिल सकता है। महंगाई के नियंत्रण में होने की वजह से रिजर्व बैंक ने अप्रत्याशित रूप से रेपो रेट में 25 आधार अंकों की कटौती की घोषणा करते हुए इसे 6.50 फीसदी से घटाकर 6.25 फीसद कर दिया है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here