Nitin Gadkari Said Nobody In My Area Talks About Casteism As He Knew He Will Be Thrashed – मेरे क्षेत्र में जो जातिवाद की बात करेगा उसकी पिटाई कर दूंगा: गडकरी

0
9


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पुणे
Updated Mon, 11 Feb 2019 09:10 AM IST

ख़बर सुनें

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा कि उनके क्षेत्र में जातिवाद के लिए कोई जगह नहीं है क्योंकि उन्होंने ‘चेतावनी’ दी हुई है कि जाति के बारे में बात करने वाले की वह ‘पिटाई’ करेंगे। यहां पिंपड़ी चिंचवाड़ में पुनरुत्थान समरसता गुरुकुलम द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि समाज को आर्थिक एवं सामाजिक समानता के आधार पर साथ लाना चाहिए और इसमें जातिवाद एवं सांप्रदायिकता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए।

नागपुर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले गडकरी ने कहा, ‘हम जातिवाद में यकीन नहीं करते हैं। मुझे नहीं पता कि आपके यहां क्या है लेकिन हमारे पांच जिलों में जातिवाद की कोई जगह नहीं है क्योंकि मैंने सभी को चेतावनी दी हुई है कि अगर कोई जाति की बात करेगा तो मैं उसकी पिटाई कर दूंगा।’

इससे पहले केंद्रीय मंत्री नेताओं की पिटाई को लेकर दिए बयान को लेकर चर्चा में थे। पिछले महीने उन्होंने नागपुर के एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि जनता से उतने ही वायदे करने चाहिए जितने कि पूरे किये जा सकें। ज्यादा लुभावने वायदे करने वाले नेता जनता को अच्छे तो लगते हैं, लेकिन जब वे वायदे पूरे नहीं हो पाते तो जनता पिटाई भी करती है। वहीं खुद अपने ऊपर टिप्पणी करते हुए नितिन गडकरी ने कहा था कि वे उतना ही वायदा करते हैं जितना की पूरा कर पाते हैं।

हाल ही के उनके कुछ बयानों को प्रधानमंत्री मोदी और आरएसएस के बीच बढ़ती कथित दूरी से जोड़कर देखा जा रहा है। वह मोदी सरकार के अलेके ऐसे मंत्री हैं जिनका काम सबसे बढ़िया बताया जा रहा है। सड़क परिवहन का काम संभालने के बाद से ही उन्होंने लगातार तेजी बनाये रखी और आज देश में सबसे तेज गति से सड़कें बन रही हैं। यानी उन्होंने अपनी वह छवि बनाने में कामयाबी हासिल की है जो अपने वायदों को पूरा करना जानता है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि कथित तौर पर अपने वायदे पूरे न कर पाने वाले नेता के रूप में बन गई है।

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा कि उनके क्षेत्र में जातिवाद के लिए कोई जगह नहीं है क्योंकि उन्होंने ‘चेतावनी’ दी हुई है कि जाति के बारे में बात करने वाले की वह ‘पिटाई’ करेंगे। यहां पिंपड़ी चिंचवाड़ में पुनरुत्थान समरसता गुरुकुलम द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि समाज को आर्थिक एवं सामाजिक समानता के आधार पर साथ लाना चाहिए और इसमें जातिवाद एवं सांप्रदायिकता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए।

नागपुर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले गडकरी ने कहा, ‘हम जातिवाद में यकीन नहीं करते हैं। मुझे नहीं पता कि आपके यहां क्या है लेकिन हमारे पांच जिलों में जातिवाद की कोई जगह नहीं है क्योंकि मैंने सभी को चेतावनी दी हुई है कि अगर कोई जाति की बात करेगा तो मैं उसकी पिटाई कर दूंगा।’

इससे पहले केंद्रीय मंत्री नेताओं की पिटाई को लेकर दिए बयान को लेकर चर्चा में थे। पिछले महीने उन्होंने नागपुर के एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि जनता से उतने ही वायदे करने चाहिए जितने कि पूरे किये जा सकें। ज्यादा लुभावने वायदे करने वाले नेता जनता को अच्छे तो लगते हैं, लेकिन जब वे वायदे पूरे नहीं हो पाते तो जनता पिटाई भी करती है। वहीं खुद अपने ऊपर टिप्पणी करते हुए नितिन गडकरी ने कहा था कि वे उतना ही वायदा करते हैं जितना की पूरा कर पाते हैं।

हाल ही के उनके कुछ बयानों को प्रधानमंत्री मोदी और आरएसएस के बीच बढ़ती कथित दूरी से जोड़कर देखा जा रहा है। वह मोदी सरकार के अलेके ऐसे मंत्री हैं जिनका काम सबसे बढ़िया बताया जा रहा है। सड़क परिवहन का काम संभालने के बाद से ही उन्होंने लगातार तेजी बनाये रखी और आज देश में सबसे तेज गति से सड़कें बन रही हैं। यानी उन्होंने अपनी वह छवि बनाने में कामयाबी हासिल की है जो अपने वायदों को पूरा करना जानता है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि कथित तौर पर अपने वायदे पूरे न कर पाने वाले नेता के रूप में बन गई है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here